मोदी की वियतनाम यात्रा: कई अहम समझोतों पर होगी बात

350

sdfचीन में होने वाली G-20 समिट के लिए रवाना होने से पहले कल रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वियतनाम पहुंचे| वियतनाम की राजधानी हनोई में आज सुबह पीएम मोदी का औपचारिक स्वागत किया गया| पीएम मोदी पिछले 15 सालों में वियतनाम की यात्रा करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं| वियतनाम के राष्ट्रपति त्रान दाई क्वांत ने खुद पीएम मोदी का स्वागत किया| सशस्त्र बलों ने भारत और वियतनाम का राष्ट्रगान बजाया जिसके बाद पीएम ने मेजबान देश के तीनों सशस्त्र बलों के गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया| इसके बाद पीएम मोदी को वियतनाम के उस परंपरागत माकन में ले जाया गया जहाँ वियतनाम के बहुचर्चित नेता हो ची मिन्ह 1958 से 1969 के दौरान रहे थे| वियतनाम के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को पूरा भवन दिखाया और भवन की खास बातें साझा की|

पीएम मोदी का ये दौरा वियतनाम से रक्षा, सुरक्षा और व्यापार संबंधो को गहरा करने में मदद करेगा और साथ ही पीएम मोदी वियतनाम से तेल निकालने में भारत की सहभागिता बढ़ाने की बात भी करेंगे| वियतनाम से तेल निकालने की परियोजनाओं में भारत की ओएनजीसी विदेश लिमिटेड पिछले तीन दशक से काम कर रही है| 15 साल बाद हो रही इस द्विपक्षीय वार्ता में क्षेत्र में नई परियोजनाओं की घोषणा हो सकती है| ये दौरा इसलिए भी खास है क्यूंकि चीन दक्षिण एशिया सागर पर अपना हक जताता है जिसके चलते वियतनाम के चीन से मतभेद हैं और जिसका फायदा भारत को इस द्विपक्षीय वार्ता में हो सकता है|

पीएम मोदी ने कहा कि अगर भारत और वियतनाम मिल जाए तो पूरी दुनिया को इसका फायदा हो सकता है| G-20 समिट को लेकर भी पीएम मोदी काफी सकारात्मक दिखे और कहा की एस इस समित से काफी अच्छे नतीजे आएंगे| बता दें की G-20 समिट कल से चीन  हांगझोउ शहर में होने जा रही है|
इस  G-20 समिट में भारत आतंकवाद के वित्तपोषण पर लगाम लगाने के साथ साथ चोरी के लिए कड़ी कारवाही के कदम उठाने की वकालत कर सकता है| पीएम मोदी 5 सितंबर को भारत लौटेंगे जिसके बाद वो वार्षिक भारत-आसियान और पूर्वी एशिया सम्मेलन में भाग लेने लाओस यात्रा पर रावण होंगे|

अगली स्लाइड पर जाने के लिए next बटन पर क्लिक करें

loading...