अब खाट पर होगी कांग्रेस की चर्चा

85

rahul-gandhiसभी नेता यू तो ऑफिस में या जनसभा से चर्चा करते है लेकिन इस बार कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी खाट पर बैठकर चर्चा करने वाले है| दरसल 6 सितम्बर से राहुल यूपी में महायात्रा करने जा रहे है जिसके लिए कांग्रेस पार्टी के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने राहुल का यूपी के गाँव में जनसभा करने में खाट पर बैठकर संवाद करने का नया पेंतरे का सुझाव दिया है| जिसके बाद पार्टी में दो मत बने हुए है एक इसके पक्ष में है और एक नही, अब इसका आखिरी फैसला सोनिया गाँधी के ऊपर छोड़ा गया है|

narendra-modi-teaआपको बता दे इससे पहले यही पेंतरा नरेन्द्र मोदी ने चाय के साथ अपनाया था जिसका नाम “चाय पर चर्चा” रखा गया था| मोदी ने गाँव गाँव जाकर चाय पीकर लोगो से रूबरू हुआ करते थे जिसके बाद वो इस तरह से लोकचर्चित हुए की प्रधानमन्त्री बन गए है| अब यही रणनीति भी राहुल अपनाने जा रहे है, जिसमे वो  6 सितम्बर से होने वाली अपनी महासभा में 2500 किलोमीटर यात्रा करेंगे और लोगो से मिलकर उनकी जरुरतों पर विचार विमर्श करेंगे| बिलकुल वही तरीका जो मोदी ने अपनाया था, लेकिन कोई इसको नक़ल ना कह सके इसके लिए इन्होने इस जनसभा का नाम बदलकर “खाट पर चर्चा” ना करके “खाट सभा” रखा है| फ़िलहाल अब ये फैसला सोनिया गाँधी के पास है कि वो इस तरीके के मिशन को सुचारू करेंगी या नही| वैसे देखने वाली बात ये होगी कि जब राहुल यूपी की जनता से रूबरू होकर खाट पर बेठ चाय की चुस्कियां लेकर अपनी यात्रा करेंगे तब ये यात्रा इनके लिए भी नरेंद्र मोदी की ही तरह फलदायक होगी या नही|

अगली स्लाइड पर जाने के लिए next बटन पर क्लिक करें

loading...