500-1000 पर लगे इस रोक की ये सच्चाई जान कर, प्रधानमंत्री मोदी से आप नफरत करने लगोगे..

2034

bollywood-celebrities-on-currency-banपहले तो ये बता दें कि ये आर्टिकल उन लोगों के लिए है जिन्होंने अपने धन को सचमुच काला किया हुआ है,

कल यानी 8 नवंबर की आधी रात से भारतीय मुद्रा में गिने जाने वाले 500 और 1000 नोट को बंद कर दिया गया. अब कानूनी रूप से इसे इस्तेमाल करना गैर कानूनी हो गया है. प्रधानमंत्री मोदी का ये कदम पुरे भारत को एक साथ अचानक से एक झटका दे गया.
जहाँ एक तरफ भारत का एक तबका इस घोषणा के बाद से जश्न मन रहा है, काले धन पर इसे भारत की एक जीत मान रहा है. वही कुछ लोगों की रात की नींद उड़ गयी है.
दरअसल प्रधानमंत्री के मुताबिक ये कदम आतंकवाद से लेकर जाली नोटों के धंधे से लेकर काला धन के मामले में एक क्रांति लाने वाला है और इन सब चीजों पर रोक लगाने वाला है. लेकिन उन लोगों की नींद उडी हुई है जिनके पास करोड़ो में काला धन पड़ा है. वो पैसे अब रद्दी की कीमत के भी नहीं रहे. चूँकि वो कला धन है, लोग उसे बैंकों में जमा भी नहीं करा सकते और सड़क पर उसकी कोई कीमत नहीं रह जाएगी.
तो ऐसे लोगों की आँखों की किरकिरी बने नरेंद्र मोदी अब उनलोगों को चुभने लगे हैं. वैसे लोगों के मन में मोदी को लेकर नफरत पैदा हो चुकी है. पर वो कहते हैं ना “खिसिआइ बिल्ली खम्बा नोचे” तो ठीक वैसे ही अब और कोई चारा नहीं.

चारा से याद आया, लालू यादव ने भी प्रधानमंत्री के इस कदम को सराहनीय बताया है..

अगली स्लाइड पर जाने के लिए next बटन पर क्लिक करें

loading...